कौशल भारत कुशल भारतप्रधानमंत्री कौशल विकास योजना

कौशल भारत कुशल भारत

मिडिया

फिज़िका माइंड पोर्टल में आपका हार्दिक स्वागत है ,फिज़िका माइंड आपका अपना वेब पोर्टल है इस वेबसाइट में आप हमें समाज से जुडी न्यूज़, कृषि से जुडी न्यूज़ , शिक्षा,समाज न्यूज़ पेपर कटिंग , न्यूज़ के विडियो क्लिप भेज सकते है समाज से जुडी सभी जानकारियो को एक ही जगह समाहित करने का प्रयास किया गया है।

Read more

घरबैठे कंप्यूटर सर्टिफिकेट कोर्स

फिजिका माइड भारत सरकार के लघुरूप सुक्षम मंत्रालय से पंजीकृत संस्था है | संस्था २००४ से सेवा में प्रयासरत है | फिज़िका माइंड के द्वारा अब आप घर बैठे कंप्यूटर के सर्टिफिकेट कोर्स कर सकते हैं जो कि आपको लेटेस्ट ज्ञान से भरपूर होगा और सबसे एडवांस टेक्नोलॉजी को आप सीखेंगे|

Read more

व्यापार में सफलता के उपाय

आप की कामयाबी को ही हम अपनी कामयाबी मानते हैं आपके व्यापार को सफल बनाने के लिए फिज़िका माइंड आपके लिए वेबसाइट और Android ऐप बनाना चाहता है , और भी बहुत सारे मार्केटिंग के उपाय हमारे पास आप के लिए हैं | हमारी सफलता का कारवां बढ़ता ही जा रहा है जिसमें आपका भी स्वागत है

Read more

किडनी रोग का आयुर्वेदिक उपचार

किडनी रोग का आयुर्वेदिक उपचार

1. कासनी नाम का पौधा आयुर्वेदिक गुणों से परिपूर्ण है। इसकी पत्तियाँ किडनी, डायबिटीज़, लीवर और बवासीर जैसी बीमारियों के उपचार में रामबाण का काम करती हैं। ये हर्बल प्लांट आपको घर के पास की नर्सरी में मिल जाएगा। किडनी रोग का उपचार करने के लिए रोज़ आपको इसकी कुछ पत्तियाँ चबानी चाहिए। इस पौधे का वैज्ञानिक नाम सिकोरियम इंटिबस _ Cichorium Intybus है।
Read More : किडनी रोग का आयुर्वेदिक उपचार about किडनी रोग का आयुर्वेदिक उपचार

यदि आप अपनी मस्तिष्क की देखभाल करते हैं

यदि आप अपनी मस्तिष्क की देखभाल करते हैं

यदि आप अपनी मस्तिष्क की देखभाल करते हैं, तो 8hrs के लिए सो जाओ।

यदि आप अपनी आंखों की देखभाल करते हैं, तो बिस्तर पर जाने से पहले अपने पैरों को तेल से मालिश करें।

यदि आप अपने कान की देखभाल करते हैं, तो अक्सर कान में लहसुन मिश्रित तेल डालें।

यदि आप अपनी नाक की देखभाल करते हैं, तो नियमित रूप से टकसाल खाएं।

यदि आप अपने मुंह की देखभाल करते हैं, तो अक्सर गिंगेल (सेसमम) तेल के साथ घूमते हैं।

यदि आप अपने गले की देखभाल करते हैं, तो अक्सर मिर्च का प्रयोग करें,

यदि आप अपने फेफड़ों की देखभाल करते हैं तो धूम्रपान से बचें। Read More : यदि आप अपनी मस्तिष्क की देखभाल करते हैं about यदि आप अपनी मस्तिष्क की देखभाल करते हैं

प्राकृतिक चिकित्सा प्रणाली की विशेषताएं

प्राकृतिक चिकित्सा प्रणाली
  1. सभी रोगों, उनके कारण और उपचार एक हैं। दर्दनाक और पर्यावरणीय स्थिति को छोड़कर, सभी रोगों का कारण एक है यानी शरीर में रुग्णता कारक पदार्थ का संचय होना। सभी रोगों का उपचार शरीर से रुग्णता कारक पदार्थ का उन्मूलन है।
  2. रोग का प्राथमिक कारण रुग्णता कारक पदार्थ का संचय है। बैक्टीरिया और वायरस शरीर में प्रवेश कर तभी जीवित रहते हैं जब रुग्णता कारक पदार्थ का संचय हो और उनके विकास के लिए एक अनुकूल वातावरण शरीर में स्थापित हुआ हो। अतः रोग का मूल कारण रुग्णता कारक पदार्थ है और बैक्टीरिया द्वितीयक कारण बनते हैं।
Read More : प्राकृतिक चिकित्सा प्रणाली की विशेषताएं about प्राकृतिक चिकित्सा प्रणाली की विशेषताएं>

योग करें, धूम्रपान से छुटकारा पाएं

योग करें

धूम्रपान के नुकसान से तो हर कोई वाकिफ है, लेकिन इस लत को छोड़ पाने में सभी बेहद लाचार साबित होते हैं। लेकिन ताजा अध्ययन में पता चला है कि योग के जरिए धूम्रपान की लत से छुटकारा पाने में आसानी होती है। प्राण योग के विशेषज्ञ दीपक झा ने बताया कि योग, धूम्रपान छोड़ने का एक समग्र समाधान है। साथ ही दीपक यह भी बताते हैं कि योग केवल धूम्रपान की आदतों से ही लोगों को दूर नहीं रखता बल्कि शरीर पर हुए दुष्प्रभाव को भी दूर कर देता है। धूम्रपान छोड़ने के लिए यूं तो बाजार में तमाम तरह के रासायनिक विकल्प उपलब्ध हैं, लेकिन इनके सहारे धूम्रपान छोड़ना उतना आसान नहीं होता। Read More : योग करें, धूम्रपान से छुटकारा पाएं about योग करें, धूम्रपान से छुटकारा पाएं

गैस की दिक्कत को यूं करें गायब

गैस की दिक्कत

पेट गैस को अधोवायु बोलते हैं। इसे पेट में रोकने से कई बीमारियां हो सकती हैं, जैसे एसिडिटी, कब्ज, पेटदर्द, सिरदर्द, जी मिचलाना, बेचैनी आदि। लंबे समय तक अधोवायु को रोके रखने से बवासीर भी हो सकती है। आयुर्वेद कहता है कि आगे जाकर इससे नपुंसकता और महिलाओं में यौन रोग होने की भी आशंका हो सकती है।

गैस बनने के लक्षण 
पेट में दर्द, जलन, पेट से गैस पास होना, डकारें आना, छाती में जलन, अफारा। इसके अलावा, जी मिचलाना, खाना खाने के बाद पेट ज्यादा भारी लगना और खाना हजम न होना, भूख कम लगना, पेट भारी-भारी रहना और पेट साफ न होने जैसा महसूस होना।  Read More : गैस की दिक्कत को यूं करें गायब about गैस की दिक्कत को यूं करें गायब

सूरज की रोशनी कितनी कारगर

सूरज की रोशनी कितनी कारगर

अगर आप खुले हाथ बाहर वक़्त बिताते हैं, तो उन पर पड़ने वाली सूरज की रोशनी आपकी विटामिन डी की ज़रूरत पूरी करने के लिए पर्याप्त है, ख़ास तौर से मार्च से अक्तूबर के बीच.

जो लोग ऐसे माहौल को हासिल कर सकते हैं, सारा लेलैंड के मुताबिक़ उन्हें विटामिन डी सप्लीमेंट लेने की ज़रूरत नहीं. लेकिन, जिन्हें इतनी भी सूरज की रोशनी नहीं मिलती, उन्हें विटामिन डी सप्लीमेंट लेना चाहिए.

कई रिसर्च से तो ये भी पता चला है कि ज़्यादा विटामिन डी सप्लीमेंट खाने से भी फ्रैक्चर का ख़तरा 20-30 फ़ीसदी बढ़ जाता है. ख़ास तौर से बुज़ुर्गों में. Read More : सूरज की रोशनी कितनी कारगर about सूरज की रोशनी कितनी कारगर

प्राणायाम से दूर होते हैं ये रोग

प्राणायाम से दूर

 चरक ने वायु को मन का नियंता एवं प्रणेता माना है। आयुर्वेद अनुसार काया में उत्पन्न होने वाली वायु है उसके आयाम अर्थात निरोध करने को प्राणायाम कहते हैं। आओ जानते हैं कैसे करें प्राणायाम और कौन-सा रोग मिटेगा प्राणायाम से...

प्राणायाम के पांच फायदे जानना जरूरी

प्राणायाम की शुरुआत : प्राणायाम करते समय 3 क्रियाएं करते हैं- 1.पूरक, 2.कुंभक और 3.रेचक। इसे ही हठयोगी अभ्यांतर वृत्ति, स्तम्भ वृत्ति और बाह्य वृत्ति कहते हैं। Read More : प्राणायाम से दूर होते हैं ये रोग about प्राणायाम से दूर होते हैं ये रोग

BP High रक्तचाप अधिक होने पर उपाय

BP High रक्तचाप अधिक होने पर उपाय

िन में दो बार सेवन करने से कुछ ही दिनों में आपकी हाई ब्लड प्रेशर की समस्या खत्म हो जाती है |
3. शहद -आप इस रोग में 1 चम्मच प्याज का रस और 1 चम्मच शहद मिलाकर खाना खाने के बाद सेवन करे दिन में दो बार और इसके सेवन से आप का उच्च रक्त चाप मात्र 4 दिन में जड़ से खत्म हो जायेगा | 
4. इस रोग में 100 ग्राम तरबूज के बिज और 100 ग्राम खसखस लेकर अच्छे से मिक्स कर ले और रोजाना सुबह खाली पेट दो चम्मच पानी के साथ सेवन करने से उच्च रक्त चाप की समस्या खत्म हो जाती है |
Read More : BP High रक्तचाप अधिक होने पर उपाय about BP High रक्तचाप अधिक होने पर उपाय

Pages