अब आंखों से पकड़ा जाएगा आपका हर झूट!

अब आंखों से पकड़ा जाएगा आपका हर झूट!

जब कोई इंसान झूठ बोलता है, तो उसके झूट को बिना किसी सुबूत के साबित करना मुश्किल होता है। हालांकि ऐसे बड़े मामलों में पॉलीग्राफ टेस्ट का सहारा लिया जाता है। लेकिन अब झूट का पता लगाना काफी आसान होगा या यूं कहें कि संदिग्ध की आंखों को देखना भर काफी होगा। अगर आपको हमारी बात पर यकीन नहीं है, तो वैज्ञानिकों द्वारा की गई इस खोज के बारे पढ़िए।

 

Utah की कंपनी Converus के वैज्ञानिकों ने टेस्ट के जरिए एक ऐसा कैमरा बनाया जो आंखों की पुतलियों को रीड कर बता देगा कि वह व्यक्ति झूट बोल रहा है या नहीं।

दरअसल इस कैमरे के जरिए इंसान की आंखों की पुतलियो की गतिविधियों और बदलते आकार को समझा जा सकेगा। इसे ट्रेक करने के लिए हाई-रेजोल्यूशन इंफ्रारेड कैमरे का इस्तेमाल किया जाता है।

इस तकनीक को EyeDetect नाम दिया गया है। Converus के चीफ साइंटिस्ट और EyeDetect टेस्ट ईजाद करने वालों में से एक जॉन किरचेर का कहना है, 'अगर किसी व्यक्ति पर मेंटल लोड होता है, तो उसकी पुतलियां फैल जाती है।' ऐसे में इस तकनीक के इस्तेमाल से सैकेंड्स में झूट सामने आ जाएगा।

बता दें कि झूठ को पहचानने के लिए फिलहाल लाईडिटेक्ट और पॉलीग्राफ टेस्ट का सहारा लिया जाता है, जिससे 90 फीसदी तक सही रिजल्ट प्राप्त होता है।

 

 

 

Vote: 
No votes yet

आप भी अपने लेख फिज़िका माइंड वेबसाइट पर प्रकाशित कर सकते है|

आप अपने लेख WhatsApp No 7454046894 पर भेज सकते है जो की पूरी तरह से निःशुल्क है | आप 1000 रु (वार्षिक )शुल्क जमा करके भी वेबसाइट के साधारण सदस्य बन सकते है और अपने लेख खुद ही प्रकाशित कर सकते है | शुल्क जमा करने के लिए भी WhatsApp No पर संपर्क करे. या हमें फ़ोन काल करें 7454046894