एलोन मस्क की स्पेस एक्स के बारे में ये 10 बातें शायद आप नहीं जानते

एलोन मस्क की स्पेस एक्स के बारे में ये 10 बातें शायद आप नहीं जानते

स्पेस एक्स एक अमेरिकन अमेरिकी एयरोस्पेस मैन्युफैक्चरिंग सर्विसेज हैं जिसके संस्थापक एलोन मस्क ने इसकी स्थापना स्पेस ट्रांसपोर्टेशन की लागत कम करने के लिए और मंगल पर मानव बसावट बसाने के उद्देश्य से की है। आज इस आर्टिकल में आपको बताते हैं स्पेस एक्स के बारे में 10 बातें जो आप शायद नहीं जानते...

 

1. स्पेस एक्स पहली प्राइवेट कंपनी है जिसने पेलोड को अन्तरिक्ष की कक्षा में लॉन्च कर पृथ्वी तक लाने में सफलता हासिल की है, ऐसा केवल नासा और रूस की रॉसकोमोस जैसी सरकारी संस्थाओं ने ही किया है।

2. फाल्कोन 9 रॉकेट का नाम स्टार वार के मिलेनियम फाल्कोन के नाम पर पड़ा है और '9" नंबर रॉकेट के 9 इंजनों को दर्शाता है।

3. रिपोर्ट के अनुसार, स्पेस एक्स रॉकेट के 80 प्रतिशत पार्ट्स कंपनी की खुद की फैक्ट्री में बनते हैं, जिससे आउट सोर्सिंग का खर्चा बचता है। इससे पेलोड की प्रति पाउंड लागत कम करती है और इन-हाउस क्वालिटी कंट्रोल रहता है।

4. इसके अलावा, स्पेस एक्स के पहले रॉकेट का नाम फाल्कोन 1 था, जो कक्षा में जाने में 5 में से 3 बार असफल हुआ था और चौथी बार सफल हुआ था। इससे कंपनी दिवालिया होने के कगार पर आ गई थी।

5. एलोन मस्क की स्पेस एक्स को पब्लिक कंपनी बनाने की कोई योजना नहीं है जब तक कि मार्स कोलोनल ट्रांसपोर्टर (एमसीटी) की शुरूआत नहीं होती है, जिसमें रॉकेट केवल 500,000 डॉलर प्रति व्यक्ति में मंगल लेकर जाएगा।

6. ड्रेगन पुनः इस्तेमाल करने योग्य स्पेसक्राफ्ट है जिसे 7 से ज़्यादा अन्तरिक्ष यात्रियों और सामान को आईएसएस में ले जाने के लिए बनाया गया था। यह अन्तरिक्ष यान 3310 किलो स्प्लिट कैप्सूल में दबावयुक्त कार्गो और दबावरहित ट्रंक के बीच ले जा सकता है।

7. माइक्रोसॉफ्ट के को-फाउंडर पॉल एलन के जॉइन करने के बाद स्पेस एक्स ने तकनीक के क्षेत्र में और प्रगति की है, कंपनी ने स्ट्राटोलॉन्च सिस्टम्स के साथ संयुक्त प्रोजेक्ट शुरू किया है।

8. कंपनी ने 2012 से अपने प्रस्तावित लॉन्च साइट के लिए बोका चीका बीच पर प्रॉपर्टी भी खरीदी है।

9. अभी, स्पेस एक्स ने 70 फ्लाइट्स बुक की हैं और कंपनी स्पेस एक्स कस्टमर्स के लिए रॉकेट लॉन्च करने के लिए 62 मिलियन डॉलर खर्च कर रही है।

10. एलोन मस्क ने रॉकेट साइंस सीखी है और उन्होने पूरा रॉकेट और लैंडिंग पोर्ट बनाया है।