अक्सर रहता है गर्दन में दर्द, तो बदल दें ये आदतें

अक्सर रहता है गर्दन में दर्द, तो बदल दें ये आदतें

गर्दन दर्द एक आम समस्या है, जो कई कारणों से हो सकती है। ज्यादा समय तक एक ही पोजीशन में बैठने, लेटने, झटका लगने या नसों और मांसपेशियों में खिंचाव-दबाव के कारण गर्दन में दर्द की समस्या हो सकती है। गर्दन में दर्द का कारण मांसपेशियों और गले के जोड़ों में किसी प्रकार की सूजन या दबाव भी हो सकता है। ऐसी कई गलत आदतें हैं, जो गर्दन दर्द का कारण बनती हैं। अगर आपको भी रहती है अक्सर गर्दन दर्द की शिकायत, तो इन आदतों में बदलाव बहुत जरूरी है। Read More : अक्सर रहता है गर्दन में दर्द, तो बदल दें ये आदतें about अक्सर रहता है गर्दन में दर्द, तो बदल दें ये आदतें

ओशो – एकाग्रता का महत्व

ओशो – एकाग्रता का महत्व

यह जो संगीत के खंड तुम भीतर इकट्ठे कर लोगे, इनको खंडों की भांति इकट्ठा मत करना, इनके बीच संबंध भी खोजना। Read More : ओशो – एकाग्रता का महत्व about ओशो – एकाग्रता का महत्व

ओशो – पहले विचार फिर निर्विचार !

पहले विचार फिर निर्विचार

मनुष्य को समझने के लिए सबसे पहला तथ्य यह समझ लेना जरुरी है कि मनुष्य के जीवन में जो चीजें सहयोगी होती हैं , 

एक सीमा पर जाकर वे ही चीजें बाधक हो जाती हैं । अगर कोई 

आदमी सोचे भी , विचार भी करे , तो भी इस महत्वपूर्ण तथ्य का

एकदम से दर्शन नहीं होता है ।

क्योंकि हम सोचते हैं , जो सहायक है , वह कभी बाधक नहीं होगा । लेकिन हर सहायक चीज एक सीमा पर बाधक हो जाती है 
अगर कोई आदमी किसी मकान की सीढ़ियां चढ़ता हो , सीढियां बिना चढे़ वह मकान के ऊपर नहीं पहुंच सकता । Read More : ओशो – पहले विचार फिर निर्विचार ! about ओशो – पहले विचार फिर निर्विचार !

प्रश्न:-क्या हम अपने अतीत के जन्‍मों को जान सकते है ?

प्रश्न:-क्या हम अपने अतीत के जन्‍मों को जान सकते है ?

ओशो—निश्‍चित ही जान सकते है। लेकिन अभी तो आप इस जन्‍म को भी नहीं जानते है, अतीत के जन्‍मों को जानना तो फिर बहुत कठिन है। निश्‍चित ही मनुष्‍य जान सकता है। अपने पिछले जन्‍मों को। क्‍योंकि जो भी एक बार चित पर स्‍मृति बन गई है, वह नष्‍ट नहीं होती। वह हमारे चित के गहरे तलों में अनकांशस हिस्‍सों में सदा मौजूद रहती है। हम जो भी जान लेते है कभी नहीं भूलते।

     अगर मैं आपसे पुछूं कि उन्‍नीस सौ पचास में एक जनवरी को आपने क्‍या किया था? तो शायद आप कुछ भी न बता सके, आपको कुछ भी याद न हो। आप कहेंगे की मुझे तो कुछ भी याद नहीं है? एक जनवरी उन्‍नीस सौ पचास, कुछ भी ख्‍याल में नहीं आता। Read More : प्रश्न:-क्या हम अपने अतीत के जन्‍मों को जान सकते है ? about प्रश्न:-क्या हम अपने अतीत के जन्‍मों को जान सकते है ?

हाई ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करना है तो अदरक से बनी इन चीजों का करें सेवन

हाई ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करना है तो अदरक से बनी इन चीजों का करें सेवन

आजकल की व्यस्त जीवनशैली में अधिकतर लोग हाइपरटेंशन के मरीज होते जा रहे हैं। ऐसा इसलिए भी हैं क्योंकि खराब खानखान और खराब स्लीपिंग पैटर्न लोगों की दैनिक दिनचर्या का हिस्सा हो गया है।

ब्लड प्रेशर वह मापक होता है जो दर्शाता है कि खून का प्रवाह किस गति से हो रहा है। हाई ब्लड प्रेशर इसीलिए एक गंभीर समस्या है क्योंकि इसमें आपका हार्ट सामान्य से ज्यादा तीव्र गति से काम करने लगता है। ऐसे में हार्ट स्ट्रोक या किडनी से जुड़ी बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है। Read More : हाई ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करना है तो अदरक से बनी इन चीजों का करें सेवन about हाई ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करना है तो अदरक से बनी इन चीजों का करें सेवन

Pages